कुलपति का संदेश

 कुलपति का संदेश

वर्ष 2020 और 2021 के दौरान कोविड -19 महामारी की निरंतर जारी लहरों ने हमें न केवल व्यक्तिगत स्तरबल्कि एक संस्था के रूप में भी अप्रत्याशित पीड़ा, दुख और व्यवधानों के लिए लाचार किया। हमारा शैक्षणिक कैलेंडर अस्त-व्यस्त और विलंबित हो गया। हमारे कुछ छात्रों ने अपने माता-पिता को खो दिया, कई माता-पिता ने अपनी नौकरी खो दी, फिर भी हमारे शिक्षकों के लगातार प्रयासों और प्रोत्साहन ने उन्हें अपनी पढ़ाई छोड़ने से दूर रखा। प्रारंभिक कठिनाइयों के बावजूद,हमारे सभी सदस्य अंततः नवीन सामान्य स्थिति का सामना करने में सफल रहे।हमने अपने ऑनलाइन लर्निंग मैनेजमेंट सिस्टम को 2021 के आरंभ में सक्रिय कर दिया ताकि बाधित शैक्षणिक गतिविधियों की पूर्ति हेतु शिक्षण-अधिगम के मिश्रित माध्यम की सुविधा मिल सके। हमने अपने कर्मचारियों के बीच 100% और अपने छात्रों के बीच लगभग 85-90% टीकाकरण प्राप्त करने के लिए 2021 में कई कोविड -19 टीकाकरण शिविर आयोजित किए। यह बड़े संतोष की बात है कि महामारी के बावजूद शैक्षणिक सत्र 2021-22 में रिकॉर्ड 1861 छात्रों ने विभिन्न स्नातक और स्नातकोत्तर कार्यक्रमों में प्रवेश लिया है। मैं विश्वविद्यालय परिवार के सभी सदस्यों द्वारा महामारी संकट से सुचारू रूप से और सफलतापूर्वक निपटने के लिए किए गए प्रयासों की सराहना करना चाहता हूं।

मैं आप सभी को सूचित करना चाहता हूं किविश्वविद्यालय अनुदान आयोग के निर्देशों के अनुसरण मेंत्रिपुरा विश्वविद्यालय ने सभी स्नातक और स्नातकोत्तर कार्यक्रमों के लिए सत्र 2022-23 से राष्ट्रीय परीक्षा अभिकरण (NTA) द्वारा आयोजित विश्वविद्यालयीन सामान्य प्रवेश परीक्षा(CUET) में भाग लेने का निर्णय लिया है। विश्वविद्यालय 2022-23 सत्र से स्नातक स्तर पर राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को लागू करने के लिए भी प्रतिबद्ध है, जिसके लिए तैयारियां तीव्र गति से चल रही हैं। जैसा कि आप जानते हैं कि त्रिपुरा विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय प्रत्यायन एवं आकलन परिषद(NAAC)प्रक्रिया केआकड़ा वैधानिकीकरण एवं सत्यापन(DVV)चरण को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है और वर्तमान में NAAC पीयर टीम के भ्रमण की तैयारी कर रहा है। मैं आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ (IQAC), नैक टास्क फोर्स और सभी विभागों/शाखाओं/अनुभागों को उनकी प्रतिबद्धता और अब तक के कठिन परिश्रम के लिए धन्यवाद देता हूं। त्रिपुरा विश्वविद्यालय के सभी सदस्यों का निरंतर सहयोग और समर्थन हमें विश्वास है कि नैक भ्रमण मेंहमारे लक्ष्यों को प्राप्त करने में उपयोगी होगा।

विश्वविद्यालय की ओर सेमैं आप सभी को शुभकामनाएं देता हूं, इस आशा के साथ कि आने वाला वर्ष हमें एक विश्वविद्यालय के रूप में हमारे लक्ष्यों के करीब लाएगा और हमें अपने जीवन के हर पहलू में आगे बढ़ने की अवसर देगा।

शुभकामना सहित,

प्रो. गंगाप्रसाद प्रसाईं
कुलपति
त्रिपुरा विश्वविद्यालय

 

STQC Certified

कुल विजिटर्स की संख्या : 3901133

सर्वाधिकार सुरक्षित © त्रिपुरा विश्वविद्यालय

अंतिम अद्यतनीकरण : 08/12/2022 02:03:06

रूपांकन एवं विकास डाटाफ्लो सिस्टम